danik bhaskar
Monday, 23 January, 2017
Updated

भोपाल : दीपावली की रात स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया(SIMI) के फरार हुए 8 आतंकियों को भोपाल के बाहरी क्षेत्र में स्थित गांव अंतखेड़ी में मार गिराया गया है। ये सभी आतंकी गार्ड की हत्या कर सेंट्रल जेल की दीवार फांदकर फरार हुए थे। सभी आतंकी आतंकवाद फैलाने में दोषी सिद्ध हो चुके थे और जेल में सजा काट रहे थे। इन पर देशद्रोह का मुकदमा चल रहा था।

इस बीच होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से फोन पर बात कर घटना की पूरी रिपोर्ट मांगी है। इसके पहले मध्य प्रदेश के होम मिनिस्टर भूपेंद्र सिंह ने लापरवाही के आरोप में जेल प्रशासन के 5 अधिकारियों को सुबह होते ही निलंबित कर दिया था। हालांकि दिल्ली से एंटी टेरर विंग और स्पेशल सेल की एक टीम भोपाल की ओर रवाना हो चुकी है।

सारी सीमाएं सील

इससे पहले मध्य प्रदेश की सीमा से लगते उत्तर प्रदेश और बिहार की सीमाओं को घटना के तुरंत बाद ही सील कर दिया गया था। सादी वर्दी में पुलिसकर्मियों को बस स्टैंडों और रेलवे स्टेशनों पर तैनात कर दिया गया था। फरार आतंकियों की तस्वीरें और समस्त ब्यौरे सभी एजेंसियों को भेज दिए गए थे।

गौरतलब है कि इसके पहले खंडवा जेल से 2 अक्टूबर 2013 को सिमी के आतंकी अबू फैजल खान, एजाजुद्दीन अजीजुद्दीन, असलम अय्यूब, अमजद, जाकिर, शेख महबूब और आबिद मिर्जा फरार हो गए थे। खंडवा में ये आतंकी जेल के बाथरूम की दीवार तोड़कर फरार हुए थे। इसके बाद प्रदेश भर के 30 सिमी आतंकवादियों के एक ही जगह भोपाल सेंट्रल जेल में ट्रांसफर किया गया था।
 

danik bhaskar