danik bhaskar
Wednesday, 29 March, 2017
Updated
State

मोहन भागवत को मिली जेड प्लस सुरक्षा, RSS मुख्यालय पहुंचे CISF कमांडो

By bhaskarhindi.com | Publish Date: Aug 12 2015 3:34PM | Updated Date: Aug 12 2015 3:59PM

नागपुर/मुंबई.
केंद्र सरकार द्वारा सरसंघचालक डा. मोहन भागवत को जेड प्लस सुरक्षा मुहैया कराई गई है। नई दिल्ली से सीआईएसएफ के 125 कमांडो ने नागपुर में दाखिल होने के बाद संघ मुख्यालय की सुरक्षा व्यवस्था की बागडोर संभाल ली है। इस दल के सभी कमांडो विशेष रुप से प्रशिक्षित हैं। इन्हें निहत्थे भी लड़ने में महारत हासिल है। विशेष रुप से प्रशिक्षित ये कमांडो डा. भागवत की सुरक्षा व्यवस्था में 24 घंटे रहेंगे। दो माह पहले डा. भागवत को जेड प्लस की सुरक्षा व्यवस्था देने की घोषणा की गई थी। इस घोषणा के बाद उन्हें जेड प्लस के अंतर्गत सीआईएसएफ (केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा दल) के कमांडो नागपुर पहुंचकर उनकी सुरक्षा व्यवस्था की बागडोर संभाल ली। कमांडो संघ मुख्यालय परिसर में पहुंच चुके हैं। इस दल के जवानों को फिलहाल मुख्यालय के पीछे भाऊ दफ्तरी स्कूल में ठहरने इंतजाम किया गया है। सूत्रों ने बताया कि डा. जहां भी डा. भागवत जाएंगे। वहां उनके साथ यह जवान साए की तरह उनके साथ होंगे।

बता दें कि नागपुर में याकूब मेमन को फांसी देने के बाद से उसका भाई टाइगर मेमन बौखला गया है। वह याकूब मेमन की मौत का बदला लेने के लिए भारत को खामियाजा भुगतने की धमकी दे रहा है। डा. भागवत की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पहले भी राज्य सरकार काफी िचंितत रही है। उनकी सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर को देखते हुए दो माह पहले केंद्र सरकार ने उन्हें जेड प्लस सुरक्षा देने की बात कही थी।

जल्द पहुंचेगा बुलेट प्रूफ वाहन
सूत्रों ने बताया कि डा. भागवत के आवागमन के लिए जल्द ही नई दिल्ली से बुलेट प्रूफ वाहन भी आने वाला है। उसके एक दो िदन में पहुंचने की संभावना जताई गई है। नागपुर के महल िस्थत संघ मुख्यालय में सीआईएसएफ के जवान आधुनिक हथियारों से लैस होकर तैनात हो गए हैं। पूरा परिसर छावनी में तब्दील हो गया है। परिसर में इस कदर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है कि वहां पर िकसी को आने- जाने की अनुमति नहीं रहेगी। कमांडो पूरी तरह आश्वस्त होने के बाद ही िकसी को अंदर जाने देंगे।
नई दिल्ली से दो स्कार्पियो भी पहुंची
नई दिल्ली से दो स्कार्पियो भी मंगलवार को बुलाई गई है। दोनों पर सीआईएसएफ के जवानों की िनगरानी दे दी गई है। इन दोनों वाहनों के पास 24 घंटे सीआईएसएफ के कमांडो पहरेदारी पर रहेंगे। इसके अलावा संघ मुख्यालय के आस-पास रहने वाले नागरिकों को भी सुरक्षा जांच के दायरे से गुजरना पड़ सकता है। कमांडो इस क्षेत्र में चप्पे-चप्पे पर तैनात रहेंगे। डा. भागवत के बाहर जाने पर स्थानीय पुलिस भी पहरेदारी पर तैनात रहेगी। आस-पास के क्षेत्रों में स्थानीय पुलिस पूरी मुस्तैदी के साथ तैनात रहेगी, लेकिन एसआरपीएफ की टुकड़ी को वहां से हटा दिया गया है।

 

danik bhaskar