danik bhaskar
Monday, 23 January, 2017
Updated

मुंबई: कलाकार हेमा उपाध्याय के परिजनों ने संदेह व्यक्त किया है कि हेमा और उनके वकील की हत्या के मामले में उससे अलग हुए उसके पति चिंतन उपाध्याय की भूमिका हो सकती है और पुलिस को इसकी जांच करनी चाहिए । हेमा के चचेरे भाई दीपक प्रसाद ने संवाददाताओं से कल यहां कहा कि उन्हें तथा उनके परिवार के अन्य सदस्यों को ‘पूरा संदेह है कि हेमा और उनके 65 वर्षीय वकील हरीश भंभानी की हत्या की साजिश के पीछे चिंतन की भूमिका हो सकती है ।’ प्रसाद के अनुसार, यह बात सही नहीं है, जैसा कि बताया गया है कि प्रमुख आरोपी विद्याधर राजभर और उसके लोगों ने पांच लाख रूपये के लिए इस हत्याकांड को अंजाम दिया । उन्होंने कहा कि यह बात इसलिए सही नहीं लगती कि हेमा ने विगत में विद्याधर की वित्तीय रूप से मदद की थी और कभी भी उससे अपने पैसे वापस नहीं मांगे। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि कुछ साल पहले चिंतन ने हेमा को धमकी दी थी कि वह उसे मार डालेगा और ऐसा करने के लिए वह किसी भी हद तक जा सकता है ।

danik bhaskar