danik bhaskar
Thursday, 23 February, 2017
Updated

मुंबई, ब्यूरो | हाईकोर्ट में भाजपा के मुंबई अध्यक्ष आशिष शेलार,मनसे प्रमुख राज ठाकरे व राष्ट्रवादी कांग्रेस के शिवाजी गर्जे ने वचन दिया था कि वे अपने कार्यकर्ताओं को अवैध होर्डिंग लगाने से रोकेंगे। इस दौरान खंडपीठ ने खास तौर से राज ठाकरे को निशाना बनाया। खंडपीठ ने कहा- अाप ने अवैध होर्डिंग न लगाने को लेकर परिपत्र निकाला है। अंडरटेकिंग दी है। फिर भी कार्यकर्ता आपकी बात नहीं सुनते। फिर इस तरह से अंडरटेकिंग देने का क्या मतलब है। जगह-जगह लगे हैं होर्डिंग याचिकाकर्ता के वकील उदय वारुंजेकर ने खंडपीठ के सामने 11 कोर्ट आयुक्तों की ओर से तैयार की गई रिपोर्ट पेश की। इसके साथ ही दावा किया कि अभी भी बड़े पैमाने पर अवैध होर्डिंग लगाए जा रहे हैं सामाजिक कार्यकर्ता भगवानजी रयानी ने कहा कि छठ पूजा के मौके पर महानगर होर्डिंग से पटा पड़ा है। इन दलीलों को सुनने के बाद खंडपीठ ने कड़ा रुख अपनाते हुए शुक्रवार को इस संबंध में आदेश जारी करने की बात कही है।

danik bhaskar