danik bhaskar
Monday, 23 January, 2017
Updated

मुंबई: राज्य के सूखाग्रस्त गांवों की संख्या बढ़ गई है। बुलढाणा जिले के 1420 गावों को भी सूखाग्रस्त घोषित किया गया है। इसके साथ ही अब एेसे गांवांे की संख्या 16128 हो गई है। जबकि इसके पहले 14 हजार 708 गांवों को सूखा ग्रस्त घोषित किया गया था। राज्य के कृषिमंत्री एकनाथ खडसे ने शनिवार को यह जानकारी दी। यह भी बताया कि केंद्र सरकार से हमने 4 हजार 332 करोड़ 12 लाख रुपए की मांग की है।
इसके लिए रविवार तक मेमोरंडम भेज दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि उनकी केंद्रीय कृषिमंत्री राधामोहन सिंह से बात हो चुकी है। सिंह ने कहा है कि बिहार चुनाव परिणाम आने के बाद अधिकारियों को महाराष्ट्र कि स्थिति जानने के लिए भेजा जाएगा। एक सप्ताह के भीतर केंद्रीय टीम महाराष्ट्र पहुंच जाएगी।
 

इस बार सूखी खेती के लिए मदद दो हेक्टेयर तक
सूखी खेती के लिए 6800 रुपए प्रति हेक्टेयर की मदद इस बार दो हेक्टेयर के लिए दी जाएगी। यानी दाे हेक्टेयर तक नुकसान होने पर उक्त दर से मदद दी जाएगी। अब तक केवल एक हेक्टेयर के लिए ही मदद दी जाती थी।
83 लाख किसानों को फसल बीमा का लाभ
खडसे ने बताया कि इस साल राज्य के 15 हजार 747 गांवों के 83 लाख किसानों को फसल बीमा का लाभ मिल सकेगा। पिछले साल 40 लाख किसानों को फसल बीमा का लाभ मिला था। उन्होंने बताया कि फसल बीमा का लाभ हासिल करने वाले सभी किसान सूखा राहत के लिए भी पात्र रहेंगे।
 

danik bhaskar