danik bhaskar
Monday, 23 January, 2017
Updated
State

वकीलों का आरोप- इंद्राणी से पूछताछ के दौरान मारपीट कर रहे पुलिसवाले

By bhaskarhindi.com | Publish Date: Aug 31 2015 3:03PM | Updated Date: Aug 31 2015 3:03PM

मुंबई.
शीना बोरा मर्डर केस की मुख्य आरोपी इंद्राणी मुखर्जी के वकीलों ने दावा किया है कि पुलिसवाले उनके क्लायंट के साथ पूछताछ के दौरान मारपीट कर रहे हैं। एक मीडिया रिपोर्ट में इंद्राणी की लीगल टीम के सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि पुलिसवालों के इंद्राणी के साथ मारपीट करने की शिकायत मुंबई पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया से की गई है। शिकायत में कहा गया है कि पुलिस इंद्राणी का इकबालिया बयान लेने के लिए दबाव बना रही है। उधर, मामले से जुड़े बहुत सारे पुलिसवालों ने कहा है कि इंद्राणी ने बीते दो दिन से पुलिस जांच में सहयोग करना बंद कर दिया है।
मर्डर के चार अटेंपट्स
एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक, पुलिस पूछताछ में पता चला है कि इंद्राणी मुखर्जी ने अगस्त 2014 में अपने बेटे मिखाइल की हत्या के लिए मुंबई के एक कॉन्ट्रैक्ट किलर को हायर किया था। इंद्राणी ने मिखाइल को मारने की यह चौथी कोशिश की थी। मिखाइल पुलिस पूछताछ में बता चुका है कि इससे पहले उसे तीन बार मारने की कोशिश की गई थी। दो बार गुवाहाटी में, जबकि एक बार शीना की हत्या वाले दिन यानी 24 अप्रैल 2012 को मुंबई में यह कोशिश की गई। शीना के मर्डर वाले दिन इंद्राणी ने उसे ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर पिलाया, लेकिन वह भागने में कामयाब रहा।
2.5 लाख की सुपारी
रिपोर्ट में एक बड़े अफसर के हवाले से बताया गया है कि इंद्राणी या उसके करीबी ने एक सुपारी किलर को 2.5 लाख रुपए दिए। अफसर ने कहा, ''हमें पता चला है कि उनकी साजिश नाकाम हो गई। हमने सुपारी किलर को हिरासत में लिया है। उसने कबूला है कि इंद्राणी ने मिखाइल को मारने के लिए पैसे दिए थे। इस सुपारी किलर के जल्द से जल्द बयान लिए जाएंगे, जिसके बाद खार पुलिस उससे इंद्राणी और संजीव खन्ना की मौजूदगी में पूछताछ करेगी।''
पूर्व पति का पता चला
पुलिस ने इंद्राणी मुखर्जी के पति रह चुके सिद्धार्थ का पता लगा लिया है। सिद्धार्थ को ही शीना बोरा का पिता माना जाता है। मुंबई पुलिस जल्द ही उनसे संपर्क करके पूछताछ करेगी। सिद्धार्थ दास के डीएनए सैंपल लिए जाएंगे ताकि यह पता लगाया जा सके कि शीना के असल पिता सिद्धार्थ हैं कि नहीं। पुलिस के हाथ एक ऐसा एफिडेविट लगा था, जिसके मुताबिक, इंद्राणी और सिद्धार्थ रजामंदी से अलग हुए और उनके 1989 के बाद से कोई संबंध नहीं हैं।
इंद्राणी का बेटा नहीं मिखाइल?
इस बीच, सिद्धार्थ की मां माया रानी दास ने कहा है कि वह इंद्राणी और सिद्धार्थ की औलाद के तौर पर सिर्फ शीना को जानती हैं। माया रानी के मुताबिक, उन्हें इंद्राणी और सिद्धार्थ के किसी बेटे के बारे में जानकारी नहीं है। (डिटेल खबर यहां पढ़ें)
हर दिन हो रहे खुलासे से पुलिस परेशान
अफसर का कहना है कि 24 अगस्त को इंद्राणी की गिरफ्तारी और बाद में उसके ड्राइवर के कबूलनामे के बाद ऐसा लगा कि केस खत्म हो गया। हर दिन गुजरने के साथ हो रहे चौंकाने वाले खुलासों की वजह से केस और पेचीदा होते जा रहा है। इस वजह से मुंबई पुलिस को रिकॉर्ड संख्या में अपने अफसर इस मामले की जांच में लगाने पड़े हैं। मामले के मुख्य आरोपी पुलिस की गिरफ्त में हैं, इसके बावजूद पुलिस अभी तक हत्या के मकसद का ठीक-ठीक पता लगाने में नाकाम रही है।
मामले से जुड़े लेटेस्ट डेवलपमेंट
>मुंबई पुलिस इंद्राणी मुखर्जी के खिलाफ हत्या की कोशिश की धारा भी जोड़ सकती है। पुलिस के मुताबिक, इंद्राणी ने मिखाइल की भी हत्या की न सिर्फ साजिश रची थी, बल्कि उसे मारने की कोशिश भी की थी।
> इंद्राणी मुखर्जी और संजीव खन्ना के पुलिस रिमांड की मियाद सोमवार को खत्म हो रही है। उन्हें बांद्रा की अदालत में पेश किया जाना है।
>अंग्रेजी अखबार द टेलिग्राफ के मुताबिक, शीना बोरा ने अपनी दो दोस्तों से आशंका जताई थी कि इंद्राणी उसे स्लो प्वॉइजन (धीमा जहर) दे रही है।
>पुलिस इंद्राणी के दूसरे पति संजीव खन्ना और ड्राइवर को रायगढ़ ले गई।
>मुंबई पुलिस ने इंद्राणी-पीटर मुखर्जी के वर्ली वाले घर से एक सूटकेस बरामद किया है, जो इस केस में अहम सबूत साबित हो सकता है।
>मिखाइल ने कहा, इंद्राणी ने दो बार गुवाहाटी आकर भी उसे जहर देकर मारने की कोशिश की थी।
>इंद्राणी के पिता उपेन ने दावा किया कि वह उसकी सगी बेटी है, न कि सौतेली।
>इंद्राणी और संजीव खन्ना के ब्लड सैंपल्स लिए गए ताकि फोरेंसिक सबूत जुटाए जा सकें।
>इंद्राणी ने पुलिस पूछताछ में कहा है कि शीना से नफरत करती थी, लेकिन उसकी हत्या में उसका हाथ नहीं है।
>इंद्राणी और उसके पूर्व पति संजीव खन्ना को आमने-सामने बिठाकर पूछताछ की गई। दोनों ने एक-दूसरे पर लगाए आरोप।

>पुलिस ने उस कार का पता लगा लिया है, जिसमें शीना बोरा की हत्या हुई थी। जिसने कार मुहैया कराया, उससे जल्द ही पूछताछ की जाएगी।
>2012 में रायगढ़ में शीना के शरीर के अवशेष मिलने के बाद कोई जांच क्यों नहीं हुई, पुलिस ने इस मामले में इंक्वायरी के आदेश दिए हैं। एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक, एक नेता ने उस वक्त इस मामले की जांच रोकने के लिए दबाव बनाया था।

>मिखाइल बोरा ने पुलिस को बताया है कि इंद्राणी ने उसके मर्डर का भी प्लान रचा था, लेकिन वह बचने में कामयाब रहा।
>सूत्रों के मुताबिक, इंद्राणी के पूर्व पति और मामले में आरोपी संजीव खन्ना ने भी मिखाइल के इस दावे की पुष्टि की है।
>सूत्र बताते हैं कि शुक्रवार को पुलिस पूछताछ के दौरान मिखाइल से सामना होने के बाद इंद्राणी ने अपना आपा खो दिया। उसने मिखाइल पर पैसे ऐंठने का आरोप लगाया।
>पुलिस के मुताबिक, 24 अप्रैल 2012 को संजीव खन्ना, इंद्राणी मुखर्जी और ड्राइवर श्यामबीर राय ने शीना को मुंबई के बांद्रा इलाके से अगवा किया। उसे पानी में ड्रग्स देकर बेहोश किया और बाद में गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। तीनों के कॉल रिकॉर्ड की जांच हो रही है।
>पुलिस ने शीना के ब्वॉयफ्रेंड राहुल मुखर्जी ने पूछा कि उसने शीना के गायब होने के बाद उसके बारे में पता लगाने की और ज्यादा कोशिश क्यों नहीं की? राहुल ने कहा कि उसने पुलिस जांच करवाने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने इंद्राणी की बात मानी। इंद्राणी ने कहा था कि शीना अमेरिका चली गई है।
danik bhaskar