danik bhaskar
Monday, 23 January, 2017
Updated

पुणे/नासिक.
सिंहस्थ कुंभ मेले के दौरान नासिक और त्र्यंबकेश्वर में 29 अगस्त को होनेवाले पहले शाही स्नान को लेकर प्रशासन ने सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। जिला कलेक्टर दीपेंद्र सिंह कुशवाह के मुताबिक वैष्णव सम्प्रदाय के दिगंबर, निर्मोही और निर्वाणी अखाड़ों के हजारों महंत और साधु नासिक में पहला पवित्र स्नान करेंगे जबकि शैव सम्प्रदाय के 10 अखाड़ों के महंत और साधु यहां से 30 किलोमीटर दूर त्र्यंबकेश्वर में पवित्र स्नान करेंगे। कुंभ की सुरक्षा में किसी तरह की कोई चूक न रह जाये इसलिए महाराष्ट्र सरकार ने 24 हजार सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया है।
रौशनी में नहाया कुंभ
पहले स्नान से पहले पूरे कुंभ क्षेत्र को आकर्षक विद्युत रोशनी से सजाया गया है। स्नान घाट, सड़कों और मंदिरों को फ्लोरोसेंट लाइट्स से सजाया गया है।
6 बजे से शुरू होगा स्नान
नासिक पुलिस आयुक्त एस. जगन्नाथ ने एक अधिसूचना जारी करते हुए नासिक में शाही जुलूस के मार्ग, महंतों और साधु की ओर से शाही स्नान के समय और विभिन्न अखाड़ों के जुलूस के क्रम सूचीबद्ध किए। इसके अनुसार शाही जुलूस तपोवन के लक्ष्मीनारायण मंदिर से सुबह छह बजे शुरू होगा। निर्वाणी अखाड़ा अपना जुलूस सुबह छह बजे शुरू करेगा और इस अखाड़े के महंत और साधु सात बजे तक स्नान के लिए रामकुंड पहुंचेंगे जबकि दिगंबर अखाड़ा अपना जुलूस सुबह साढ़े छह बजे शुरू करेगा और साढ़े सात बजे रामकुंड पहुंचेगा। निर्मोही अखाड़ा अपना जुलूस सुबह सात बजे निकालेगा और शाही स्नान के लिए आठ बजे रामकुंड पहुंचेगा। शाही स्नान के बाद महंत और साधु अलग मार्ग से साधु ग्राम स्थित अपने शिविर पहुंचेंगे। भारी पुलिस बल की तैनाती की व्यवस्था की गई है जिसमें शीर्ष अधिकारी, आरएएफ, राज्य आरक्षित पुलिस बल और बम निरोधक दस्ता शामिल हैं।
यातायात बंदोबस्त
गोदावरी नदी को जानेवाले सभी रास्तों को साढ़े तीन किलोमीटर के दायरे में बंद कर दिया जाएगा और उसमें किसी भी वाहन को प्रवेश की इजाजत नहीं दी जाएगी. स्थानीय नागरिकों की सुविधा के लिए कुछ पार बिंदुओं की पहचान की गई है। नासिक और त्र्यंबकेश्वर में जगह-जगह बैरिकेड्स लगाए गए हैं। पुलिसकर्मी जरूरत पड़ने पर लोगों की सघनता से जांच भी कर रहे हैं। श्रद्धालुओं को भी इससे ऐतराज नहीं है। प्रशासन को लग रहा है कि पहले शाही स्नान के दिन 70 लाख से एक करोड़ लोग नासिक और त्र्यंबक में डुबकी लगाने जुट सकते हैं, इसलिए वह सुरक्षा के हर मुमकिन इंतजाम करने में जुटा है।

चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा
नासिक पुलिस कमिश्नर एस जगन्नाथन ने बताया कि कुंभ के दौरान नासिर में सुरक्षा के लिए 24000 पुलिसकर्मी, स्पेशल फोर्स और एटीएस के 10 स्क्वॉड, बम निरोधक दस्ते की 12 टीमें, 350 सीसीटीवी कैमरे निगरानी करेंगे। मुख्य घाट के रास्तों में लोगों को सूचना देने के लिए 1700-1800 लाउडस्पीकर सिस्टम भी लगाए गए हैं।
नासिक में शाही स्नान 29 अगस्त, 13 सितंबर और 18 सितंबर को होगा वहीं त्र्यंबकेश्वर में शाही स्नान की तिथि 29 अगस्त, 13 और 25 सितंबर है।

 

danik bhaskar