danik bhaskar
Wednesday, 29 March, 2017
Updated

भोपाल : मध्यप्रदेश में हाड़ कपाने वाली ठंड और तीव्र शीतलहर के बीच सभी सरकारी और निजी स्कूलों को सुबह 10 बजे के बाद ही प्रारंभ करने के सरकारी आदेश जारी होने के एक दिन बाद पहले दिन इस पर अमल नहीं हो पाया। राज्य के लोक शिक्षण आयुक्त डीडी अग्रवाल की ओर से जारी किए गए आदेश के मुताबिक, शीतलहर की तीव्रता को देखते हुए 20 जनवरी से 23 जनवरी तक सभी सरकारी और निजी स्कूल सुबह दस बजे के बाद ही प्रारंभ करने के लिए कहा गया है। यह आदेश तत्काल ही सभी जिलों में भेजने की व्यवस्था की गई लेकिन सभी स्कूलों तक इसके औपचारिक आदेश नहीं मिलने के कारण इसका पालन नहीं हो पाया। राजधानी भोपाल में सुबह 6 बजे से 8 बजे के बीच ही प्रतिदिन की तरह बच्चे स्कूलों के लिए रवाना होते हुए दिखाई दिए। घने कोहरे और शीतलहर के बावजूद स्कूल प्रबंधनों की ओर से कोई दिशा निर्देश नहीं मिलने के कारण अभिभावक बच्चों को तय समय पर स्कूल भेजने के लिए मजबूर दिखे। बच्चों की स्कूल बस और अन्य वाहन भी पूर्व निर्धारित समय पर बच्चों के लिए लेने पहुंचे। राज्य में तीन चार दिनों से तीव्र शीतलहर और बारिश के कारण काफी तेज ठंड आ गयी है। कुछेक स्थानों पर ओलावृष्टि की सूचनाएं भी मिली हैं। इस तरह का मौसम तीन-चार दिन और बने रहने का अनुमान लगाया गया है। राजधानी भोपाल में सूर्य के दर्शन लगभग दस बजे ही हो पाए हैं।
danik bhaskar