danik bhaskar
Thursday, 23 February, 2017
Updated

भोपाल : ऑल इंडिया बैंक एम्प्लाइज एसोसिएशन(AIBAA) के आव्हान पर भारतीय स्टेट बैंक को छोड़कर अन्य बैंकों के कर्मचारियों के हड़ताल पर रहने के कारण प्रदेश भर में बैंकों का काम प्रभावित रहा। अपनी मांगों को लेकर देशभर के सार्वजनिक, निजी एवं विदेशी क्षेत्र के बैंक कर्मचारियों ने राष्ट्रव्यापी बैंक हड़ताल की है। एआईबीएए सूत्रों ने बताया कि स्टेट बैंक ऑफ इंडिया को छोड़कर अन्य सभी बैंकों के लाखों कर्मचारी हड़ताल पर रहे हैं। बैंकों में कामकाज न होने के कारण कई लोगों को बैंकों में परेशानी का सामना करना पड़ा है। बैंकों में शनिवार और अगले दिन रविवार होने के कारण भी काम नहीं होगा।
हड़ताली बैंककर्मी द्विपक्षीय समझौतों का उल्लंघन रोकने, सेवा शर्तों को एकतरफा लागू न करने, सामूहिक सौदेबाजी की पवित्रता बरकरार रखने, सरकारी दिशा-निर्देशानुसार अनुकम्पा नियुक्ति योजना प्रारम्भ करने और लम्बित मांगों का निराकरण करने की मांग कर रहे हैं। एआईबीएए ने दावा किया कि मध्य प्रदेश में लगभग 4000 शाखाओं के 20,000 बैंक कर्मचारियों के हड़ताल में शामिल होने के कारण करीब 3 लाख 50 हजार करोड़ रुपए का बैंकिंग व्यवसाय ठप्प रहा। प्रदेश के करीब 9000 एटीएम भी हड़ताल से प्रभावित रहे हैं। भोपाल की 360 से अधिक शाखाओं के 3000 से अधिक बैंक कर्मचारी हड़ताल पर रहे, जिससे बैंकों का काम-काज पूर्णत: ठप्प रहा। भोपाल एवं आस-पास के हड़ताली बैंक कर्मी प्रात: 10:30 बजे एमपी नगर स्थित ओरियेन्टल बैंक ऑफ कॉमर्स रीजनल आफिस के सामने इकट्ठे हुए। उन्होंने अपनी मांगों के समर्थन में नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। वहां से एक रैली प्रारम्भ हुई। रैली प्रेस कॉम्प्लेक्स का चक्कर लगाते हुए वापस ओरिएन्टल बैंक ऑफ कॉमर्स के सामने आकर सभा में परिवर्तित हो गई।

danik bhaskar