danik bhaskar
Monday, 23 January, 2017
Updated

भोपाल: मध्यप्रदेश में पिछले दिनों पशुपालन विभाग के संयुक्त मोर्चा  के द्वारा की गई हड़ताल का ज्यादा असर नहीं देखने को मिला और अधिकांश संभाग और जिलों में पशु चिकित्सा सेवाएं जारी रहीं। शासन ने इसके लिए ग्वालियर, चम्बल, उज्जैन, रीवा, शहडोल, सागर और जबलपुर संभाग के कमिश्नर, संबंधित जिला कलेक्टर, पशु चिकित्सा विभाग के संयुक्त संचालक और उप संचालकों की भूमिका की सराहना की है। जबकि इंदौर, नर्मदापुरम और भोपाल संभाग के कुछ जिलों में हड़ताल का आंशिक असर देखने को मिला। इन जिलों में संबंधित अधिकारी-कर्मचारियों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की गई है। शासन ने विभागीय अधिकारी-कर्मचारियों को आगाह किया है कि वे सोशल मीडिया में हड़ताल को लेकर विभिन्न प्रकार के संदेश के संबंध में सावधानी रखें।

danik bhaskar