danik bhaskar
Monday, 20 February, 2017
Updated

बिलासपुर : छत्तीसगढ के बिलासपुर के फास्टट्रैक कोर्ट ने मानसिक रूप से बीमार 13 वर्षीय बच्ची का किडनैप कर दुष्कर्म करने वाले युवक को आजीवन कारावास की सजा दी है। जिला न्यायालय के विशेष अपर सत्र न्यायाधीश प्रज्ञा पचौरी ने 19 अप्रैल 2014 को घर से अपहृत कर सरकंडा इलाके के सुलभ शौचालय में बच्ची से दुष्कर्म करने वाले मनोज बीडिका को आज आजीवन कारावास के साथ 22 हजार रुपये के जुर्माना की सजा सुनाई। अभियोजन के अनुसार इमलीपारा निवासी आरोपी पडोस मे रहने वाली बच्ची को घर में अकेली देख उसे सुलभ काम्पलेक्स ले गया जहां वह नौकरी करता था। दुष्कर्म के बाद उसे घर छोड़ गया। पुलिस ने शिकायत की जांच एवं मेडिकल के बाद आरोपी के खिलाफ बलात्कार, अपहरण के साथ लैंगिक अपराधों से बालक बालिकाओं का संरक्षण अधिनियम 2012 की धारा 6 के तहत न्यायालय में चालान पेश किया था। 

danik bhaskar