danik bhaskar
Monday, 23 January, 2017
Updated

फाइल फोटो

जगदलपुर: छत्तीसगढ़ की कोंडागांव जिला पुलिस के समक्ष आज एक-एक लाख के दो इनामी समेत 19 हार्डकोर नक्सलियों ने तथा शासन की पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर आत्मसमर्पण कर दिया। बस्तर आईजी एसआरपी कल्लूरी एवं कोंडागांव एसपी जेएस वट्टी ने बताया कि बस्तर रेंज में लगातार चल रहे नक्सली विरोधी अभियान में बड़ी सफलता मिली है। सुरक्षा बलों द्वारा चलाए जा रहे नक्सल विरोधी अभियान से नक्सली संगठन लगातार दबाव महसूस कर रहे हैं। वहीं सरकार की पुर्नवास एवं आत्म समर्पण दोनों नीति को देखकर नक्सली मुख्य धारा से जुडऩे हेतु लगातार समर्पण कर रहे हैं। इसी कड़ी में आज कुल 19 नक्सलियों हेमचंद मंडावी एलओएस सदस्य ईनामी एक लाख, जयराम कोर्राम इनामी एक लाख सीएनएम कमांडर, जुगनू सलाम, जयसिंह मुरिया, आशाराम मुरिया, गुड्डु शोरी, मानकूराम मुरिया, कुमा माडिय़ा, सोनऊ मुरिया, बिल्लू मुरिया, रामजी सोरी, रनसाय मुरिया, लच्छूराम, रामप्रसाद नाग, मलसाय उसेंडी, रिसुलराम कावड़े, मलसाय नरेटी, पदुम दुग्गा एवं दशरू कोर्राम ने समर्पण किया है। आत्मसमर्पित नक्सली दर्जनों बड़ी नक्सली वारदातों में शामिल रहे हैं। आत्मसर्पितों में एक एलओएस डिप्टी कमांडर, जनमिलिशिया डिप्टी कमांडर, सीएनएम कमांडर एवं 16 जन मिलिशिया सदस्य कुल 19 माओवादियों ने हथियार डाले हैं। आंध्र प्रदेश के बड़े नक्सली लीडरों की प्रताडऩा एवं भेदभाव से प्रतिदिन आत्म समर्पण करने वाले सभी माओवादी छत्तीसगढ़ के मूल निवासी एवं कोंडागांव, कांकेर जिले के थाना क्षेत्र बयानार, मर्दापाल, बड़ेडोंगर एवं आमाबेड़ा के जनमिलिशिया में सक्रिय थे।

danik bhaskar