danik bhaskar
Monday, 23 January, 2017
Updated

कोरबा : छत्तीसगढ के कोरबा जिला मुख्यालय से लगभग तीस किलोमीटर दूर स्थित सुमेधा गांव की एक माध्यमिक पाठशाला के 22 छात्र छात्राएं आज रहस्यमय ढंग से बेहोश हो गये, जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। अधिकारिक जानकारी के अनुसार सुबह रोज की तरह छात्र-छात्राओं ने कतारबद्ध होकर प्रार्थना किया। इसके बाद स्कूल में खेल गतिविधियां प्रारंभ हुई। खेल के दौरान सातवीं कक्षा का छात्र योगेश एकाएक बेहोश होकर अपने स्थान पर गिर गया। अध्यापक और छात्र-छात्राएं उसे संभाल ही रहे थे कि छटवीं कक्षा की छात्रा सावित्री और एक अन्य छात्र नीतेश भी बेहोश होकर अपने स्थान पर गिर गये। एकाएक हुई इस घटना से विद्यालय में अफरा-तफरी मच गयी। खेल गतिविधियां तत्काल रोक दी गयी। तीनों बच्चों को स्कूल के भीतर एक कक्ष में ले जाया गया। इसके बाद अन्य छात्र-छात्राओं को उनके कक्षा में भेज दिया गया। इसी बीच एक छात्र और दो छात्राएं फिर बेहोश हो गये।
अध्यापकों ने छात्र-छात्राओं को अस्पताल पहुंचाने के लिए एम्बुलेंस के लिए फोन किया। साथ ही घटना की जानकारी खण्ड शिक्षा अधिकारी और अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) कटघोरा को दी गयी। एम्बुलेंस आते ही बेहोश हुए तीन छात्र और तीन छात्राओं को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कटघोरा ले जाकर भर्ती कराया गया। एक ओर छह छात्र-छात्राओं का कटघोरा में उपचार चल रहा था वहीं दूसरी ओर स्कूल में एक बार फिर छात्र-छात्राओं की बेहोशी का सिलसिला शुरू हो गया। एक-एक कर सोलह (16) छात्र-छात्राएं और बेहोश हो गये। एक बार फिर एम्बुलेंस और निजी वाहनों की सहायता से सभी छात्र-छात्राओं को राष्ट्रीय ताप विद्युत निगम (एनटीपीसी)के विभागीय अस्पताल जमनीपाली में उपचार के लिए भर्ती कराया गया। अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) कटघोरा वीरेन्द्र बहादुर ने बताया कि सभी छात्र-छात्राओं की स्थिति उपचार के बाद सामान्य है। खण्ड चिकित्सा अधिकारी कटघोरा रूद्रपाल सिंह ने बताया कि कमजोरी की वजह से छात्र-छात्राएं बेहोशी का शिकार हुए है। बेहोश बच्चों में 13 छात्राएं और 09 छात्र शामिल हैं।

danik bhaskar