danik bhaskar
Monday, 23 January, 2017
Updated

रायपुर: मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (MCI) के तल्ख पत्र के बाद बुधवार को स्वास्थ्य सचिव विकास शील ने सभी मेडिकल कॉलेजों के डीन्स की बैठक ली और कॉलेजों में चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा भी की। उन्होंने एक बार फिर सभी डीन्स को MCI के पत्र के बारे में बताया और निर्देश दिए की एमसीआई नॉर्म्स और पूर्व में एमसीआई द्वारा गिनाई गई कमियों को जल्द से जल्द दूर किया जाए। बजट से संबंधित जो भी जरूरी प्रस्ताव हैं, वे बनाकर भेजा जाए। उन्होंने सबसे ज्यादा जोर कॉलेजों में खाली पड़े डॉक्टर्स के पदों को भरने पर दिया गया।

सूत्रों के मुताबिक, स्वास्थ्य सचिव ने बैठक में सभी डीन से स्पष्ट कहा कि किसी भी तरह की लापरवाही न बरती जाए। गौरतलब है कि एमसीआई ने छत्तीसगढ़ के मेडिकल कॉलेजों से निकल रहे डॉक्टर्स को दोयम दर्जे का करार दिया था। साथ ही लिखा था कि अगर कमियां इसी तरह बनी रहीं तो इस साल किसी भी कॉलेज को अंडरटेकिंग नहीं दी जाएगी। इससे पहले एमसीआई ने ऐसा चेतावनी पत्र कभी नहीं भेजा था।

केंद्र सरकार ने प्रदेश के मेडिकल कॉलेज रायपुर, बिलासपुर, रायगढ़ और जगदलपुर में ट्रामा यूनिट स्थापित करने 5-5 करोड़ रुपए दिए हैं। सचिव ने जल्द से जल्द ट्रामा यूनिट निर्माण की कार्यवाही करने को भी कहा। गौरतलब है कि ट्रामा यूनिट का काम बेहद ही धीमी गति से चल रहा है।

danik bhaskar